धातु रोग एवं योन रोग से छुटकारा आयुर्वेद एवं योग द्वारा

Sharing is caring!

धातु रोग एवं योन रोग से छुटकारा आयुर्वेद एवं योग द्वारा

आज की युवा पीडी अपने खान पान पर अनियंत्रित है| और उनको अनियंत्रित करने में मिलावट का मुख्य योगदान है| जिससे वह तरह – तरह के रोगों से पीड़ित हो जाते है| उन्ही रोगों में एक रोग है धातु रोग(योन रोग) |

यह एक ऐसी बीमारी है जिससे दुसरे के सामने जाहीर करने में भी शर्म आती है| इन रोगों से छुटकारा पाने के लिए लोग महंगी से महंगी दवाई खाते है फिर भी कई बार सफल इलाज उन्हें नहीं मिल पाता |

इन समस्याओ से छुटकारा पाने के लिए हम आपको आयुर्वेदिक और योगिक तरीका बताने जा रहे है जिससे योन रोग हमेशा के लिए समाप्त हो जायेगा और दोबारा आपको होगा भी नही –

धातु रोग से निदान पाने के योगिक तरीके –

अगर आप धातु रोग सम्बंधित समस्या से परेशान है तो आप ब्रम्हचर्य आसन एवं भद्रासन करे यह धातु रोगो को पूरी तरह से समाप्त करने में सक्षम है|

1. ब्रम्हचर्य आसन –

ramdevbabayog.com - brahmacharyasana
ब्रम्हचर्य आसन को करने का सरल तरीका यह है की आप वज्रासन में बैठ जाये और अपने दोनों पैरो के पंजे को बहार की ओर कर लेवे और इसी स्थिती में 5 मिनट तक बैठे रहे|

अगर आपके शरीर में लचीलापन है तो आप ब्रम्हचर्य आसन में बैठ कर पंजे को बाहर की ओर एवं ऐडी को अंदर की ओर करके बैठ सकते है|

आसन करने का उचित समय – रात्रि में सोने से पहले|

यह भी पढ़े – गर्भ में लड़का या लडकी – ये प्राचीन प्रथा है विज्ञान पर भारी
यह भी पढ़े – दूध को इस तरह पीने से पुरुषो में तीव्रता से बढ़ेगी यौन*शक्ति – Milk Benefits for Sexual Health

2. भद्रासन आसन –

ramdevbabayog.com - bhadrasana
इस आसन को करने के लिए आप अपने दोनों पैर सामने की ओर ले जाकर पंजे को आपस में चिपका ले और फिर दोनों पंजो को चिपकाकर जांघ के नीचे की तरफ लाये और फिर ऐड़ी पर बैठ जाये| ध्यान रखे शरीर का उपरी हिस्सा सीधा रहे|

3. कपालभाति एवं अनुलोम विलोम –

ramdevbabayog.com - Kapalbhati-Pranayama
आप नियमित रूप से से कपालभाति एवं अनुलोम विलोम 15 मिनट से लेकर 30 मिनट तक करे|

फायदे –
1. आपके शरीर में किसी भी तरह का धातु रोग हो ठीक हो जायेगा|
2. योन दुर्बलता नहीं रहेगी|
3. स्पर्मकाउंट की कमी नहीं होगी|

यह भी पढ़े – शारीरिक शक्तिहीनता का रामबाण ईलाज – Increase Body Power
यह भी पढ़े – नपुंसकता का आयुर्वेदिक ईलाज – Ayurvedic Way to cure Napusankta

पोस्ट को पूरा पड़ने के लिए अगले पेज पर जाये

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here